November 19, 2018

टीएसआर कैबिनेट में रिक्त दो मंत्री पदों पर नामों की जल्द ही हो सकती है घोषणा,देशराज कर्णवाल का नाम भी चर्चाओ में

देहरादून। त्रिवेंद्र सरकार में दायित्वों पर टकटकी लगाए भाजपा कार्यकर्ताओं की बेचैनी लगातार बढ़ रही है। इस बीच खबर आ रही है कि टीएसआर कैबिनेट में रिक्त दो मंत्री पदों पर नामों की पूर्ति हो सकती है।
दायित्व बंटवारों को लेकर जहां भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट कभी भी और किसी भी वक्त का संकेत दे चुके हैं वहीं कैबिनेट में रिक्त दो पदों पर ताजपोशी के भी संकेत मिल रहे हैं।
सूत्रों की मानी जाए तो मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत और प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट की आलाकमान के साथ इस मसले पर कई दौर की बातचीत हो चुकी है। दायित्वों के लिए जहां भट्ट ने अपनी लिस्ट फाइनल कर ली है वहीं कैबिनेट विस्तार के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत अपना मन पक्का कर चुके हैं। खबर ये भी है कि दिल्ली गए मुखिया बसंत पंचमी से पहले ये बड़ा ऐलान कर सकते हैं।
खबरो की माने तो कैबिनेट में रिक्त दो पदों पर गढ़वाल और कुमांऊ की ओर से दावेदारियां मजबूत हैं। तय माना जा रहा है कि अबकी बार जातिगत समीकरण और क्षेत्रगत समीकरणों को ध्यान मे रखकर नाम फाइनल किए गए हैं।
बावजूद इसके सरकार के सामने एक अनार और सौ बीमार वाली हालत है। हालांकि जिले के नजरिए से देखा जाए तो गढ़वाल क्षेत्र से टिहरी, उत्तरकाशी और चमोली जिले को कैबिनेट में कोई जगह नहीं मिली है। बावजूद इसके अबकी बार महेंद्र भट्ट, मुन्ना सिंह चौहान, विनोद चमोली, हरबंश कपूर, गोपाल रावत,एव देशराज कर्णवाल भी उत्तराखंड में  चर्चित चेहरा बन चुके है  की गढ़वाल क्षेत्र से पैरवी हो रही है।
जबकि पुष्कर धामी, हरभजन सिंह चीमा, बिशन सिंह चुफाल और पूर्व सीएम हरीश रावत को हराने वाले राजेश शुक्ला कुमांऊ से कैबिनेट में जगह पाने को पूरा जोर लगाए हुए हैं।
ऐसे में माना जा रहा है कि आलाकमान, ठाकुर,ब्राह्मण और पंजाबी समुदाय को खुश करने की जुगत लगाएगी ताकि कोई भी रूठे नहीं। ऐसे में माना जा रहा है कि जिस तबके को कैबिनेट मे जगह नहीं मिलेगी उसे किसी बड़े दायित्व पर एडजस्ट किया जाएगा। हालांकि होगा क्या ये तो वक्त ही बताएगा फिलहाल नामों पर चर्चाओं का दौर जारी है। लेकिन तय माना जा रहा है कि सलेक्ट हुए  10 नामों मे से ही दो को टीएसआर कैबिनेट में जगह मिलेगी।
देशराज कर्णवाल का नाम भी चर्चाओ में
देशराज कर्णवाल हरिद्वार के झबरेड़ा विधान सभा से आरक्षित सीट से आते है उनकी प्रबल दावेदारी इस लिए भी मानी जा रही है क्यों की श्री कर्णवाल इस वक्त उत्तराखंड में एक चर्चित विधायक के रूप में उभर के आये है,सरल स्व्भाव के श्री कर्णवाल को दलित समाज के साथ साथ अन्य समाज के लोग भी दिल से चाहते है,उनके द्वारा जिस तरह से विधान सभा में प्रश्नो की बौछार लगाई गई है उससे उनका कद काफी ऊपर उठ चूका है

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *