November 19, 2018

भारतीय गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से अंडर 19 विश्व कप जीता भारत

नई दिल्ली।   भारत ने ऑस्ट्रेलिया को आठ विकेट से हराकर रिकार्ड चौथी बार अंडर 19 विश्व कप जीत कर इतिहास रच दिया।  अंडर 19 क्रिकेट टीम ने  ‘गुरू’ राहुल द्रविड़ को उनके कोचिंग कैरियर की सबसे बड़ी कामयाबी से नवाजा ।  भारतीय गेंदबाजों ने उम्दा प्रदर्शन करते हुए आस्ट्रेलिया को 216 रन पर आउट कर दिया । जवाब में भारत ने सिर्फ दो विकेट खोकर 38 . 5 ओवर में लक्ष्य हासिल कर लिया ।

दिल्ली के मनजोत कालरा ने 102 गेंद में नाबाद 101 रन बनाये जबकि कप्तान पृथ्वी शॉ और टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने वाले शुभमान गिल आज जल्दी आउट हो गए थे । भारत ने चौथा खिताब जीतकर आस्ट्रेलिया को पछाड़ा जिसके नाम तीन खिताब हैं ।

यह प्रदर्शन कोच द्रविड़ को भी शानदार तोहफा रहा जिन्हें आखिरकार विश्व कप ट्राफी अपने नाम करने का मौका मिला । दो साल पहले बांग्लादेश में टीम उपविजेता रही थी। भारत ने छह साल पहले उन्मुक्त चंद की अगुवाई में यह खिताब जीता था । विराट कोहली ने 2008 और मोहम्मद कैफ ने 2000 में खिताबी जीत दिलाई थी ।

 

इस बार भारत शुरू ही से प्रबल दावेदार माना जा रहा था और प्रदर्शन भी उसी तरह का रहा । दूसरी टीमों और भारत के प्रदर्शन में जमीन आसमान का अंतर था।

शॉ ( 29 ) और गिल ( 31 ) के विकेट जल्दी गंवाने के बाद हार्विक देसाइ ( नाबाद 47 ) और कालरा ने 86 रन की साझेदारी करके टीम को जीत तक पहुंचाया । आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में 86 रन बनाने वाले कालरा ने एक बार फिर उम्दा पारी खेली । उसने अपनी पारी में आठ चौके और तीन छक्के लगाये । जैसे ही देसाइ ने विजयी चौका जड़ा, भारतीय खिलाड़ी मैदान पर उमड़ पड़े और दर्शक दीर्घा में चहुंओर तिरंगा लहराता दिखाई दिया । इससे पहले जोनाथन मेरलो के 76 रन के बावजूद आस्ट्रेलियाई टीम भारतीय स्पिनरों शिवा सिंह और अनुकूल रॉय का सामना नहीं कर सकी और 216 रन पर आउट हो गई ।

एक समय आस्ट्रेलिया के चार विकेट पर 183 रन थे और वह 250 रन की ओर बढती नजर आ रही थी । इसके बाद भारतीय स्पिनरों ने ताबड़तोड़ विकेट लेकर उसके मंसूबों पर पानी फेर दिया । जासन संघा की टीम ने आखिरी छह विकेट 33 रन पर गंवा दिये । आस्ट्रेलिया ने इससे पहले टास जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन उसके बल्लेबाज अच्छी शुरूआत को बड़ी पारियों में नहीं बदल सके ।

मेरलो और परम उप्पल ( 34 ) ने चौथे विकेट के लिये 75 रन की साझेदारी की ।  इसके बाद मेरलो ने नाथन मैकस्वीनी ( 23 ) के साथ 49 रन जोड़े । शिवा ने मैकस्वीनी का रिटर्न कैच लेकर आस्ट्रेलिया पर दबाव बना दिया । उस समय स्कोर पांच विकेट पर 183 रन था। इससे पहले राय ने उप्पल को रिटर्न कैच लेकर पवेलियन भेजा । भारतीय स्पिनरों ने बीच के ओवरों में रनगति पर अंकुश लगाये रखा ।

सलामी बल्लेबाज जैक एडवडर्स ( 28 ) और मैक्स ब्रायंट ( 14 ) टिक नहीं सके । तेज गेंदबाज ईशान पोरेल ने दोनों बल्लेबाजों को उछाल लेती गेंद पर कवर में लपकवाया । इस टूर्नामेंट की एक और खोज कमलेश नागरकोटी ने आस्ट्रेलियाई कप्तान संघा ( 13 ) समेत दो विकेट लिये।वहीं शिवम मावी को एक विकेट मिला।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *