November 19, 2018

बेरहम अध्यापक ने बच्चियों को बेरहमी से पीटा

 शामलीः  एक ओर जहाँ सरकार बेटी पढाओ बेटी बचाओ का नारा दे रही है। वही शामली के भवन थाना क्षेत्र के गांव फूंसगढ़ में प्राइमरी पाठशाला की दो छोटी बच्चियों को अध्यापक ने बेरहमी से पीटा। पीडित परिजनो ने बच्चियों का भवन थाना पहूँच कर तहरीर दे कर कानूनी कार्यवाही की गुहार लगाई है।वही पुलिस ने तहरीर के आधार पर बच्चियो का मेडिकल कराकर जांच में जुट गई है।
दरअसल मामला जनपद शामली के भवन थाना क्षेत्र के प्राथमिक विधालय फूंसगढ का है। जहाँ गांव फूंसगढ़ निवासी धर्मेद्र की आठ वर्ष और चमन की 10 वर्ष की बेटी गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में पढ़ती है। आरोप है कि विद्यालय में पढ़ाने वाले अध्यापक प्रदीप ने बच्चियों को छुट्टी होने के बाद टाट पट्टी जिस पर बच्चे बैठकर पढते है। इक्टठी करके रखने को कहा। जिस पर बच्चियो के छोटी होने के कारण उन्हे ठीक से इक्टठा नही कर पाई जिस करण शिक्षक प्रदीप का गुस्सा हो गये।और बच्चियो को डांटने के बजाए डंडे से बेरहमी से पीट दिया। इससे दोनों बच्चियों को काफी चोट आई। पिटाई से एक बच्ची बेहोश भी हो गई थी। दोनों बच्चियां जब घर पहुंचीं तो उन्होंने परिजनों को मारपीट की जानकारी दी। गुस्साए परिजन विद्यालय पहुंचे, लेकिन अध्यापक वहां नहीं मिला। इसके बाद बच्चियों के परिजनं ने भवन थाने पर पहूँच कर शिक्षक के खिलाफ तहरीर देकर कानूनी कार्यवाही की गुहार लगाई है। वही पुलिस ने तहरीर के आधार पर बच्चियो का मेडिकल कराकर मुकदमा दर्ज कर जांच में जुट गई है। 
कक्षा 5वी की पीडित मासूम छात्रा ने बताया कि जिस टाट पर बैठकर पढते है। अगर उसे इक्टठा करके नही रखते तो प्रदीप सर पिटाई करते है। उन्होने हमारी डण्डो से पिटाई की है।
कक्षा 4 की पीडित मासूम छात्रा साक्षी ने बताया कि सर टाट इक्टठा करवाते है। हमारे से इक्टठे नही किये गये जिस कारण उन्होने हमारी पिटाई की है। पिटाई से मासूम साक्षी बेहोश हो गई थी।
पीडित मासूम बच्ची का पिता धर्मेन्द्र ने बताया कि मेरी बेटी घर आने के बाद बेहोश हो गई थी। उसे लेकर अस्पताल आये हमने दूसरे बच्चो से पूछताछ की तो पता चला कि गुरू जी ने एक और लडकी की पिटाई की है। इसके बाद मै  स्कूल में गया तो तब तक मास्टर स्कूल से जा चुके थे। उसके बाद हम थाने पर गये तहरीर देने उन्होने मेथ्डकल के लिए भेजा है।
ए.एस.पी. श्लोक कुमार ने बताया कि भवन थाना क्षेत्र में फूंसगढ गांव के कुछ बच्चे अपने माता पिता के साथ थाने पर आये थे। उनके माता पिता द्वारा सूचना दी गई है। कि स्कूल के अध्यापक द्वारा उनके बच्चो के साथ मारपीट की गई है। प्रथमदृष्टा उनके शरीर पर चोट के निशान भी है। जिसे देखते हुए मुकदमा दर्ज किया गया और बच्चो को मेडिकल के लिए भेज दिया। इस सम्बन्ध में हम एक रिपोर्ट डी.एम.सहाब को भी भेज रहे है। रिपोर्ट में उनसे रिक्वेस्ट करेगे की जो कर्मचारी है। उन्हे निलम्बित किया जाये।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *