November 19, 2018

प्यार में पिता की हत्यारिन बनी बेटी 

शामली – परिवार  की सुरक्षा के लिए खरीदे गये तमंचे से ही बेटी ने कराई पिता की हत्या। 
              मृतक की पत्नी व बेटी ने ही प्रेमी के भाई को करया था हत्या में प्रयुक्त तमंचा।
शामलीः दिल्ली के सरकारी स्कूल में लैब टैक्निशियन राकेश रूहेला की हत्या उसी तमंचे से की गई। जो उसने अपने परिवार की सुरक्षा के लिए खरीदा था। हत्यारे को वह तमंचा और किसी ने नही बल्कि उसकी खुद पत्नी और बेटी ने ही अवैध संबंधो का विरोध करने पर बेटी के प्रेमी के भाई को उपलब्ध कराया गया था। 
दरअसल जनपद शामली के सदर कोतवाली क्षेत्र के मौहल्ला दयानन्द नगर निवासी राकेश रूहेला दिल्ली के सरकारी स्कूल में लैब टैक्निशियन के पद पर तैनात था। राकेश की 7 अपै्रल की रात को उस समय गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।
 जब वह दिल्ली से ड्यूटी करने के बाद रेलगाडी से आने के बाद अपने घर वापस लौट रहा था। उस वक्त मुह पर कपडा लपेटे एक शख्स ने उसकी ही गली में गोली मारकर हत्या कि घटना को अंजाम दिया था।  मामले के खुलासे में जुटी कोतवाली पुलिस तथा एस.ओ.जी टीम ने पूरे घटना को समझ कर सबूतो के साथ घटना के मुख्य सूत्रधार मृतक की बडी बेटी के प्रेमी तथा हत्या को अंजाम देने वाले प्रेमी के भाई व मृतक की पत्नी बी.एस.सी में पढने वाली बडी बेटी वैशाली व छोटी बेटी वैष्णवी उर्फ काव्या जो कि बी.ए.की छात्रा है। हिरासत में लेकर पूछताछ कर हत्या का खुलाशा किया है।  
 लैब टैक्निशियन राकेश रूहेला की हत्या में पुलिस जांच में पुलिस ने  राकेश के घर व पडोस में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के आधार पर हमलावर की पहचान शुरू की थी। यही नही पुलिस ने राकेश के परिजनों के मोबाईलों की कॉल डिटेल भी निकलवाई थी। जिसके बाद राकेश की दर्दनाक हत्या का चौकाने वाला खुलासा हुआ। सीओ सिटी आशोक कुमार ने बताया कि मृतक की पुत्री वैष्णवी उर्फ काकी का हाजीपुरा निवासी युवक समीर पुत्र जरीफ से प्रेम प्रसंग चला आ रहा था। जिसको लेकर राकेश विरोध करता था तथा कई बार उसके प्रेमी को घर के आसपास देखकर धमका भी था। घटना से दो दिन पहले प्रेमी से मिलने को लेकर राकेश ने अपनी पुत्री की पिटाई भी की थी। यही से शुरू होता है हत्या का सिलसिला। मृतक की पुत्री ने अपने ही पिता की हत्या की प्लानिंग करते हुए घर में रखा हुआ तमंचा अपने प्रेमी को दिया तथा उससे शर्त रखी कि जब तक तुम मेरी पिता की हत्या नही कर देते तब तक मै तुम्हारी साथ शादी नही करूगी। बस फिर क्या था। प्रेम में अंधे समीर ने अपने चचेरे भाई शादाब को विश्वास में लिया और राकेश की हत्या करने निकल पडे। गत 7 अप्रैल को जब राकेश ट्रेन से उतरकर अपने घर जा रहा था तो प्रेमी समीर के भाई शादाब ने अपनी पहचान छिपाने के लिए मुंह पर रूमाल बांध लिया तथा उसके घर के नजदीक ही कनटपटी से तमंचा सटाकर गोली मार दी। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर दो तमंचे एक जिंदा कारतूस, व खोखा बरामद करते हुए तीनों को जेल भेज दिया है। 
मृतक की पत्नी ने बताया कि मेरी छोटी बेटी की एक मुस्लमान के लडके के साथ फ्रैण्डशीप है। उसने ही उसके साथ मिलकर किया यह सब मेरी बेटी ने ही उनको तमंचा दिया गया था। दोनो एक साथ पढते थे। मेरे घर में मेरी जीवन के 24 साल मेरे पति के साथ लडाई में ही बीत गये है। यह लडका रोज अपना इसे टोर्च करता था। कभी हाथ काटकर कहता मै तेरे बिना नही जी सकता। इसबात की शिकायत पहले ही मै पुलिस को करना चहाती थी लेकिन मेरी हिम्मत नही हुई। और उसी गलती के कारण आज यह स्थिति बनी है। इस हत्या में मेरा र्का हाथ नही है।
प्यार में अंधी बेटी वैष्णवी उर्फ काव्या ने बताया कि मेरी मम्मी को पापा डेली पीटा करते थे। हमारी कुछ नही सुनते थे। इस बारे में हमने पापा के जानकारो को भी बताया उन्होने भी कुछ नही किया। डेली पीटना व कभी हाथ काट देना अंगुलिया तोड देना सिर फोडना बैल्टो से पीटना। मैने पापा का तमंचा उठाकर अपने दोस्त को दिया था। एक साल से हम दोस्त थे। पापा को हमारी दोस्ती के बारे में पता था । लेकिन बाद में हमारी दोनो की बाते बन्द हो गई थी। मैने अपने दोस्त को फोर्स किया था कि पापा मम्मी को डेली पैन देते है। हमसे देखा नही जाता था। जब पापा को हम रोकते थे तो वो हमे भी पीटते थे।  
सी.ओ. सिटी अशोक कुमार सिंह ने बताया कि दिनाँक 7 अप्रैल 2018 को शहर शामली के मौहल्ला दयानन्द नगर निवासी राकेश की गोली मारकर हत्या हुई थी। राकेश दिल्ली में सर्विस करता था। दिल्ली से सर्विस से लौटकर अपने घर जा रहा था। इसी के घर के पास गोली मारकर इसकी हत्या हो गई थी। हत्या के बाद हम लोगो ने इसकी तफ्तीश की और विवेचना की वहा पर लगे आसपास के सी.सी.टी.वी कैमरो में इसकी फुटेज में जब यह पैदल जा रहा था। तो अभियुक्त इसका पीछा करते हुए पाये गये। उन फोटो से इनकी पहचान कराई गई। पहचान में उनका नाम सादाब व समीर जो कि मौहल्ला हाजीपुरा के रहने वाले है। दोनो पक डमें आ गये। उनकी गिरफ्तारी की गई। उसके बाद इनसे पूछताछ में जो सामने तथ्य आये है। वह यह था कि जो राकेश था। इसका अपने घर में झगडा रहता था। और यह अपनी पत्नी व बच्चो के साथ मारपीट करता था। समीर नाम के अभियुक्त के सम्बन्ध उसकी लडकी वैष्णवी से थे। मृतक की बेटी ने समीर को कहा कि आप मेरे पिता की हत्या कर दे, तो मै आपसे शादी कर लूगीं। राकेश अपनी बेटी के समीर के सम्बन्ध का भी विरोध करता था। उसके बाद लडकी ने समीर को तमंचा दिया जो इसके घर में रखा हुआ था। और उसे उकसाकर समीर ने अपने ताऊ के लडके के सादाब को साथ लिया और इस हत्या को अंजाम दिया। लडकी और दोनो की गिरफ्तारी हो गई है। आगे कि विवेचना अभी जारी है।जो भी तथ्य सामने आयेगे उन पर कार्यवाही की जायेगी। अभी इसमें और भी आरोपी हो सकते है। विवेचना में जो भी सामने आयंगें उनकी गिरफ्तारी होगी। हत्या में प्रयुक्त हथियार बरामद हो गया है। हत्या के दो कारण है। एक तो पत्नी की पिटाई करना और दूसरा उसकी लडकी काव्या के समीर से प्रेम सम्बन्ध।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *